Home HEALTH CARE दवा खाने से भी हो सकते है बीमार II Focus Samachar

दवा खाने से भी हो सकते है बीमार II Focus Samachar

262
0
SHARE
Focus Samachar
medicine information, Focus Samachar

Focus samachar, New Delhi बुखार कम करने के लिए पेरासिटामोल या एंटीबायोटिक I दर्द के लिए ब्रुफेन छोटी मोटी समस्या होने पर अक्सर खुद से कुछ दवाइयों का सेवन करते हैं I बुखार की प्रचलित दवा एंटीबायोटिक खाने के बाद शरीर का तापमान कम तो हो जाता है लेकिन नींद क्यों आती है इसी तरह कफ सिरप भी नींद लाने में मददगार होता हैI

लेकिन क्या आपको मालूम है कि आप की बीमारी की दवा आपको और बीमार भी बना सकती है अगर बिना सोचे समझे उस दवा को बार-बार ले तो उसके सेवन से आप कुछ और गंभीर समस्याओं का शिकार बन सकते हैं I

उदाहरण के लिए एस्प्रिन की गोली खाने से पेट में कुछ गड़बड़ महसूस होता है तो वहीं कुछ एंटी एलर्जी दवाओं के सेवन से सुस्ती आती है I दूसरी तरफ ताकत देने वाले स्टेरॉयड लीवर पर असर डालते हैं I ऐसी ही कुछ अन्य दवाइयों के सेवन से कई लोगों को अक्सर नींद आती रहती है I

यहां धड़ल्ले से चल रहे हैं 500 – 1000 के पुराने नोट II Focus samachar

दवा का यह साइड इफेक्ट मरीज में कई सालों तक बना रहता है I लेकिन मरीज इस बात से अनजान रहते हैं यह साइड इफेक्ट सिर्फ एंटी एलर्जी और एस्पिरिन दवा से ही नहीं खांसी जुखाम और बुखार के इलाज के लिए ली जाने वाली एंटीबायोटिक दवाओं से भी होता है I

सुप्रीम कोर्ट ने दी आधार मामले में बड़ी राहत II Focus Samachar

इस तरह की एंटीबायोटिक दवाओं से बैड कैलेस्ट्रोल के स्तर पर इजाफा भी होता है I डॉक्टर डोंट लिसन MD लीना वन बताती है कि कानून को नजरअंदाज करते हुए दवा कंपनियां दवा से संबंधित जानकारियों को दवा के लेवल पर देती नहीं है I इसलिए अगली बार किसी बीमारी के उपचार के लिए दवा का सेवन करना हो तो कोई भी दवा बिना डॉक्टर की सलाह के ना ले डॉक्टर से दवा के साइड इफेक्ट के बारे में जरूर पूछें क्यूंकि आंखें सवाल आपकी सेहत का हैI

focus samachar
focus samachar

अमेरिका में एडवर्स इवेंट डॉट कॉम एक ऐसी ही वेबसाइट है जहां साइड इफेक्ट की 5.6 मिलियन रिपोर्ट है जिन्हें डॉक्टर नर्स दवा विक्रेता और रोगियों ने एफडीए को भेजा है इस वेबसाइट पर दूसरे रोगी अपने साइड इफेक्ट के सिम्टम्स एंटर करके यह जान सकते हैं कि यह किस दवा का प्रभाव होगा? भारत में दवाओं के प्रति बढ़ती जागरूकता से जल्द ही यहां भी ऐसे एप्लीकेशन आने की संभावना से इनकार नहीं किया जा
सकता I हालांकि सरकार की तरफ से कुछ गाइडलाइंस भी दिए गए हैं मगर लोगों की इसमें खास जागरूकता नहीं है इस वजह से लोग बिना सोचे समझे ही कोई भी दवा लेने लगते हैं अगर आपको डॉक्टर ने कोई दवा कुछ निश्चित समय के लिए लेने के लिए कहा है तो उसे नजरअंदाज ना करें I

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here